Initiative by department

Provided Tablets and facilitated Online and Offline digital learning through Content Access Management (CAM) Appliance with Learning Management Solution (LMS) in all TAD hostels.

E-learning Solution Description: For providing the facility of digital learning to tribal students residing in TAD Hostel, it is envisaged to deploy a Content Access Management (CAM) Appliance with Learning Management Solution (LMS) and Tablets to the hostels. 

The Content Management Appliance (CAM) have digital contents for the  students from Class VI to Class XII. Contents area in text, audio-video, multimedia format etc. which can be accessed by the tablets provided along with the CAM appliance. Appliance also creates a local Wi-Fi within the premise which can be accessed by Tablets, Smart Phones and other wifi enabled devices.

Benefits of the Project

The Content Management Appliance (CAM) have digital contents for the  students from Class VI to Class XII. Contents area in text, audio-video, multimedia format etc. which can be accessed by the tablets provided along with the CAM appliance. Appliance also creates a local Wi-Fi within the premise which can be accessed by Tablets, Smart Phones and other wifi enabled devices.

1- Create a Wi-Fi network which can be accessed by Tablets, Smart Phones, and Smart TVs for viewing online contents by the client devices when internet is available.

2- Create a local Wi-Fi network which can connect to different wifi enabled devices and share the available contents on CAM appliance when internet is not available.

3- Can connect to internet through Ethernet/ Wi-Fi for updating contents on the appliance

4- Share the data required by Central Server for reporting and other purposes.

5- Track and compare the usage of various contents available on content appliance.

6- Track performance of individual students, hostels, wardens based on assessments.

Benefits to Students

1- Opportunities to get access to content other than school books.

2- Development of interest in the subject due to variety of content to be viewed including Audio, Videos, Multimedia contents.

3- Better understanding of concepts and improved pedagogy.

Benefits to Students/ Teachers/ Hostel Wardens

1- Opportunity to utilize the free content available in an offline manner.

2- Ease in explanation of complex concepts to students.

3- Additional support during free time for making students to study.

4- Promote creativity and attitude towards internet and computer based learning.

Read More...

 

 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close
 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close
 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close
 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close

जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा जनजाति छात्र/छात्राओ के शैक्षणिक सहशैक्षणिक विकास हेतु आश्रम छात्रावास, आवासीय विद्यालय एवं खेल छात्रावास संचालित किये जा रहे है। विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों में आधारभूत कार्यो की स्थिति, शैक्षणिक स्तर, स्वास्थ्य व पोषण (Health and Nutrition), हाॅस्टल प्रबंधन एवं सुरक्षा एवं सहभागिता के विषयों को सम्मिलित करते हुए यूनिसेफ के सहयोग से माह फरवरी-मार्च, 2017 में विस्तृत अध्ययन किया गया। 

सर्वे के अन्तर्गत हाॅस्टल में आधारभूत सुविधाओं यथा छात्र/छात्राओ की संख्या के अनुरूप कक्षो की उपलब्धता, पलंग, बिस्तर एवं छात्र-छात्राओं सम्बंधी अन्य सामग्री की उपलब्धता, रसोईघर, रसोई बरतन, पेयजल, शौचालय तथा बाउण्ड्रीवाॅल को सम्मिलित करते हुए आधारभूत सुविधाओ का आंकलन किया गया।

शैक्षणिक प्रदर्शन अन्तर्गत छात्र/छात्राओं को कोचिंग की उपलब्धता, शिक्षा की गुणवत्ता तथा उनके द्वारा गत वार्षिक परीक्षा में अर्जित प्राप्तांको के आधार पर प्रदर्शन का आंकलन किया गया है।

इसके अतिरिक्त छात्र/छात्राओें की सुरक्षा, छात्र/छात्राओं की छात्रावास के कार्यो एवं रख-रखाव में सहभागिता, सहशैक्षणिक गतिविधियों में इनके प्रदर्शन तथा हाॅस्टल प्रबन्धन व प्रबोधन का भी आंकलन किया गया। उक्त सभी बिन्दुओं को सम्मिलित करते हुए प्रत्येक छात्रावास की समेकित रेंकिंग जारी की गई।

अध्ययन की रिपोर्ट के आधार पर उक्त पैरामीटर पर हाॅस्टलों की रेंकिंग की गई। साथ ही प्रत्येक हाॅस्टल में पाई गई कमियों को चिन्हित कर निश्चित समयावधि में कमियों को पूरा करने की कार्यवाही जारी है।

उक्त सर्वे में विभागीय छात्रावासों में लाईब्रेरी की आवश्यकता एवं आवश्यक आधारभूत उपलब्धता का भी सर्वे कराया गया है। सर्वे के आधार पर चयनित 100 छात्रावासों में यूनिसेफ के सहयोग से लाईब्रेरी (पुस्तकें एवं डिजिटल कंटेंट सहित) स्थापित की जा रही है। उक्त अध्ययन से हाॅस्टल मोनेटरिंग हेतु एक डिजिटल सपोर्ट सिस्टम भी तैयार होगा जिसको नियमित रूप से अपडेट कर प्रत्येक हाॅस्टल की आदिनांक स्थिति की जानकारी मिल सकेगी।

 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close

1- मुख्यमंत्री महोदया की बजट घोषणा 2016-17 की अनुपालना मे छात्रावासों व आवासीय विद्यालयों के छात्र/छात्राओं हेतु केरियर गाइडेन्स कार्यक्रम लागू किया।

2- उक्त केरियर गाइडेन्स कार्यक्रम के तहत छात्रावासों व आवासीय विद्यालयों के  छात्र/छात्राओं को कक्षा 10 एवं 12 वी परीक्षा उत्र्तीण करने के पश्चात् भविष्य में केरियर बनाने हेतु गाइडेन्स दी गयी है।  

3- उक्त कार्यक्रम अनुसूचित क्षेत्र के पाँचों जिलों में लागू किया गया है। जिसमें लगभग 962 छात्र/छात्राओं को लाभान्वित किया गया।

जनजाति छात्रावासों/ आवासीय विद्यालयों/ खेल छात्रावासों एवं एकलव्य माॅडल पब्लिक विद्यालयों का संचालन जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा किया जा रहा है। विभाग द्वारा नियमित भोजन, रहवास, पौशाक, खेलकूद सामग्री, कोचिंग, स्टेशनरी, रसोई, बिजली, शौचालय, डायनिंग हाॅल की साफ-सफाई आदि सुविधाऐं प्रदान कर जनजाति छात्र-छात्राओं को लाभान्वित किया जा रहा है।  

जनजाति विकास विभाग द्वारा प्रभावी मोनेटरींग के लिए  Android Based Mobile App "Collect"  विकसित किया गया है, जिसके माध्यम से छात्रावासों में दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी मय Photographs, Location (Longitude & Latitude)  की  Real Time Mode  में प्राप्त हो रही है। 

विभागीय अधिकारियों/ जन प्रतिनिधयों आदि के द्वारा समय-समय  पर औचक निरीक्षण किये जा रहे है। उक्त App को लागु होने से छात्रावास अधीक्षकों का छात्रावासों में ठहराव सुनिश्चित हो पा रहा है। 

उक्त ऐप के माध्यम से छात्रावासों में दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी मय Photographs, Location (Longitude & Latitude) की Real Time Mode में प्राप्त होने से उच्च स्तर पर छात्रावासों की मोनीटरींग बेहतर रूप हो रही है।

 
 
G
M
T
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
Text-to-speech function is limited to 200 characters
 
 
 
Options : History : Feedback : Donate Close
मोबाईल एप पर तीन फार्म नियमित रूप से उपलब्ध है। जिसके माध्यम से प्रतिदिन वार्डन को छात्रावास में रहकर फोटोग्राफ  ऐप के माध्यम से भेजने होते है। विस्तृत विवरण निम्नानुसार हैः-  
क्र.सं विवरण समय अवधि
1 सुबह के नाश्ते के फोटो "Hostel Morning Breakfast"  फॉर्म के माध्यम से सुबह 5.00-10.00 बजे तक
2 दोपहर के भोजन से सम्बन्धित फोटो "Lunch in Hostel"  फॉर्म के माध्यम से प्रातः 10.00-दोपहर 4.00  बजे तक
3 सायं छात्र-छात्राओं के अध्ययन (Self Study)  से सम्बन्धित फोटो  "Self Study by Students"  फॉर्म के माध्यम से सायं 6.00-10.00 बजे तक

1- पीएमटी/पीइटी/आईआईटी की कोचिंग हेतु सहायता।

2- जनजाति छात्रों को रिसर्च फेलोशिप

3- बोर्ड परीक्षा में 65 प्रतिशत अंक लाने पर जनजाति छात्राओं को निःशुल्क स्कूटी वितरण

4- छात्रगृह किराया योजना

5- बोर्ड एवं विश्वविद्यालय में प्रथम श्रेणी उत्तीर्ण जनजाति प्रतिभावान छात्रों को आर्थिक सहायता

6- जनजाति छात्राओं को उच्च शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता

7- जनजाति छात्राओं को उच्च माध्यमिक शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता

1- 100 विभागीय छात्रावासों/आवासीय विद्यालयों में लाईब्रेरी की स्थापना की जा रही है।

2- लाईब्रेरी हेतु विभाग द्वारा किताबे उपलब्ध करायी जा रही है।

3- लाईब्रेरी की स्थापना हेतु आवश्यक सामग्री यथा् टेलीविजन, कम्प्यूटर, लाईब्रेरी टेबल, रेक्स, अलमारी व कुर्सीयाॅ क्रय करने हेतु भारत सरकार से संविधान की धारा 275 (1) के तहत 110.00 लाख रू. प्राप्त हुए है।

1- विभागीय अनुसूचित क्षेत्र व सहरिया क्षेत्र में संचालित 100 छात्रावासों/आवासीय विद्यालयों हेतु पाॅच वर्षीय विशेष स्काउट गाईड कार्यक्रम इस शिक्षा सत्र से प्रारम्भ किया है। 

2- योजनान्तर्गत 1000 जनजाति स्काउट/गाइड बालक एवं बालिकाओं को जनजाति रोवर रेंजर स्काउट गाईड का बैसिक कोर्स का प्रशिक्षण व यूनिफोम उपलब्ध करायी गयी। 

3- कार्यक्रम हेतु भारत सरकार से संविधान की धारा 275 (1) के तहत प्रतिवर्ष 12.00 लाख रू. का प्रावधान रखा गया है। 

4- इस वर्ष माह नवम्बर 2017 में राष्ट्रीय स्तर जनजाति स्काउट व गाइड, जम्बूरेट, उदयपुर में आयोजित की गयी, जिसमें राजस्थान के 750 एवं राष्ट्र के अन्य प्रदेशों से 200 जनजाति वर्ग के स्काउट व गाइड बालक-बालिकाओं ने भाग लिया। जम्बूरेट के सफल आयोजन हेतु विभाग द्वारा राशि रू. 17.00 लाख दिये गये है।

अंतिम अपडेट तिथि

26-06-2018

संपर्क करें

जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग

1, सहेली मार्ग, चेतक सर्कल, उदयपुर (राज.)

फोन: 0294 2428721-24 फैक्स: 0294 2428721

ईमेल: comm.tad@rajasthan.gov.in

वेबसाइट: www.tad.rajasthan.gov.in

नोडल अधिकारी

श्री गिरिराज कतीरिया, एसीपी (उपनिदेशक) 

फोन नं.: 0294 2428722

ईमेल: ddit.tad@rajasthan.gov.in

सम्बंधित लिंक